Surdas kiske shishya the | सूरदास के गुरु कौन थे

Surdas kiske shishya the सूरदास भगवान श्री कृष्ण के ऐसे भक्त थे जिन्होंने कभी भगवान की तस्वीर भी नहीं देखि थी फिर भी उनकी भक्ति में इतने तन्मय थे की उन्हें भगवान को दर्शन देने ही पड़े

सूरदास के गुरु कौन थे
सूरदास के गुरु कौन थे

सूरदास भगवान के अनोखे भक्त इस लिए भी थे क्योंकि सूरदास को कुछ भी दिखाई नहीं देता था

फिर भी इन्होने भगवान से प्रेम ऐसा किया की दो आँखों वाले भी नहीं कर सकते है इनकी भगति के पीछे उनके गुरु का भी ज्ञान छुपा है

सूरदास के गुरु कौन थे
Surdas kiske shishya the

सूरदास जन्म से ही अंधे थे इस कारण सूरदास जैसे जैसे बड़े हुए तो उनके घरवालो का उनपर प्रेम कम होता गया

Surdas kiske shishya the

और वैसे वैसे सूरदास का वैराग्य में मन लगता गया इसी तरह सूरदास के जीवन में आये उनके गुरु श्री बल्भाचार्य जी महाराज जो की महान संत थे सूरदास जी को वे अपने साथ गोवर्धन पर्वत ले गए

Surdas kiske shishya the एक बार सूरदास जी सूखे कुए में गिर गए और कहते है 7 दिन तक वे वही रहे और अंत में उन्होंने भगवान श्री कृष्ण से प्राथना की उनकी करुण वाणी सुनकर भगवान ने उन्हें वहा खुद निकला बोलो कृष्ण भक्त सूरदास की जय

Leave a Reply

%d bloggers like this: