लड्डू गोपाल की सेवा कैसे करनी चाहिए

लड्डू गोपाल की सेवा कैसे करनी चाहिए
शास्त्रों में कहा जाता है कि जिसकी घर पर लड्डू गोपाल भगवत गीता आदि पवित्र पुराण ग्रंथ नहीं है
तो वह घर श्मशान कहलाता है। शास्त्रों में श्मशान जाना और उस घर में जाना एक बराबर है।
प्रत्येक घर में लड्डू गोपाल का होना आवश्यक है

तथा निरंतर उसकी सेवा करना चाहिए।लड्डू गोपाल को स्नान कराने के लिए स्वर प्रथम एक थाली में रोली से सीतारा बनाना चाहिए।
फिर उस थाली में लड्डू गोपाल को स्नान कराना चाहिए।
उस थाली में बने सितारा के बीच ओम लिखना चाहिए।
फिर उस थाली में तुलसी के पत्ते रखने चाहिए।

लड्डू गोपाल की सेवा कैसे करनी चाहिए

फिर उस थाली में ठाकुर जी को रखना चाहिए।
फिर अच्छे मन से भगवान को जल चढ़ाना चाहिए।
स्नान कराते समय नारायण नमः मंत्र का जाप करना चाहिए।

पानी के साथ साथ दूध दही गी आदि भी भगवान के चरणो में अर्पण करना चाहिए ‌।
फिर उसके बाद शुद्ध जल से ठाकुर जी को स्नान कराना चाहिए।

स्नान कराने के बाद ठाकुर जी को अपने मस्तक से लगाकर उनका आशीर्वाद लेना चाहिए।उसके बाद साफ कपड़े से पुछना चाहिए।
उसके बाद शुद्ध कपड़े ठाकुर जी को पहनाना चाहिए।

ठाकुरजी को यज्ञोपवित पहनाना चाहिए। जिस पानी से ठाकुर जी को स्नान कराया गया
उस पानी को पी लेना चाहिए क्योंकि वही पानी चरणामृत है।
वह पानी भगवान का प्रसाद है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: