Krishna Ki Chetavani : कृष्ण वाणी स्टेटस

krishna ki chetavani अपनों के साथ समय का पता नहीं चलता
लेकिन समय के साथ अपनों का पता जरूर चलता है

समय पर कोई सही निर्णय लिया जाये तो वो समय का सदुपयोग कहलाता है
समय पर समय का सही निर्णय नही ले तो आने वाला समय आपको बर्बाद भी कर सकता है

वर्तमान और भविष्य और भूतकाल अर्थात बिता समय सभी एक ही धागे के मोती होते है

वर्तमान में अगर आप सही निर्णय लेते है तो आपका भविष्य उसी हिसाब से होगा और भूतकाल वर्तमान बीतने के बाद कहलाता है

Krishna Ki Chetavani
Krishna Ki Chetavani

कृष्ण वाणी

अगर आपका वर्तमान सही है तो आपका भविष्य और आने वाला कल भी सही होंगे इस लिए कहते है की व्यक्ति को हमेसा वर्तमान में ही जीना चाहिए

रावण से जब कहा गया की तुम लंका के विध्वंश का कारण हो तो रावण ने कहा मेने मान लिया की सीता को मुझे नहीं चुराना चाहिए था में भूल गया की राम भगवान है लेकिन

व्यक्ति को अपना वर्तमान देखना चाहिए क्योंकि ज्ञानी मनुष्य जो बीत गया उस का पछतावा नहीं करते जो होने वाला है उसपर उसका कोई वश नहीं इस लिए केवल अपने वर्तमान में देखना जरूरी है

कृष्ण वाणी स्टेटस

मेरा वर्तमान ये है मुझसे राम युद्ध करने आया है में उसकी शरण में जाऊ और अपना राज्य बचाओ तो किस पर राज करूंगा क्योंकि आधे से ज्यादा तो लोग मारे जा चुके है इस लिए मेरा वर्तमान ये है की मेरे सामने भगवान भी है तो क्या में युद्ध जरूर करूंगा

विश्वाश किसका किया जाये और विश्वाश के लायक कौन है इसका पता कैसे लगया जाये

Krishna Ki Chetavani

जो व्यक्ति आपके क्रोध करने पर भी आपके क्रोध के पीछे भी आप पर प्रेम देखे

जो व्यक्ति आपके निर्णय के पीछे आपकी विवश्ता और प्रश्नता समझे

krishna ki chetavani जो व्यक्ति आपके मोह के पीछे आपकी विवस्ता समझे वो ही है आपका सच्चा प्रेमी और आप भी दुसरो के बारे में ये सोचते है तो आप भी उसी से प्रेम करते है

Leave a Reply

%d bloggers like this: