दीपावली की कहानी | diwali ki kahani

दीपावली की कहानी

दीपावली मनाने का कारण सरल है की जब भगवान श्री राम अयोध्या से लोटे थे तो उसकी याद में दिवाली मनाई जाती है क्योंकि दिवाली का त्यौहार हमारे हिन्दुओ में राम के समय से चलता आ रहा है

दीपावली की सही कहानी ये है की जब भगवान राम को वनवास था तो अयोध्या वासी बहुत दुखी हुए थे

दीपावली की कहानी

और अयोध्या के प्रतेक व्यक्ति कोई कुछ नहीं कर पाया इस लिए अयोध्या वासियो के पास कोई चारा नहीं था लेकिन अब जब अयोध्या वासियो को पता चला की उनके चहेते राम वापिस अयोध्या आ रहे है

तो इस खुशी में वे राम के लिए कुछ न कुछ कर सकते थे तो उन्होंने भगवान राम सीता और भईया लक्ष्मण के लिए प्रतेक अयोध्या वासियो ने अपना – अपना घर बहुत सुन्दर सजाया

और ऐसा प्रतेक अयोध्या वासियो ने किया तो अयोध्या नगरी बहुत सुन्दर सज गयी सभी अयोध्या वासियो ने अपने घर के ऊपर दीपक जलाके श्री राम का स्वागत किया

और इस खुशी के रूप में दीपावली के दिन को हर वर्ष मनाया जाने लगा तब से लेकर आज तक दीपावली को राम की जित और उनके अयोध्या लौटने की ख़ुशी में दीपावली मनाते है

Leave a Reply

%d bloggers like this: