Chhatrapati shivaji ke guru kaun the शिवाजी के गुरु कौन थे

Chhatrapati shivaji ke guru kaun the छत्रपति शिवाजी महाराज मराठा साम्राज्य के नीम के पत्थर साबित हुए इन्होंने ही मराठा सम्राज्य की नीम लगाई थी शिवाजी महाराज का नाम जितने आदर और सम्मान के साथ लिया जाता है वह इनके गुरु के कारण ही है शिवाजी के गुरु का नाम रामदास जी था और रामदास जी के बचपन का नाम नारायण था

Chhatrapati shivaji ke guru kaun the
शिवाजी के गुरु कौन थे

शिवाजी के गुरु कौन थे

जब शिवाजी महाराज की माता श्री उनको रामदास जी के गुरुकुल में छोड़ कर आई जब शिवाजी संपूर्ण शिक्षा लेकर चले तो उनके गुरु ने गुरुदक्षिणा के रूप में उनसे शेरनी का दूध मांगा था और वह दक्षिणा शिवाजी ने अपने गुरु जी को दी थी शिवाजी महाराज ने मुगल साम्राज्य के खिलाफ सर्वप्रथम आवाज उठाई थी

उनका नारा था स्वराज्य यानी कि हमारी धरती और हमारा ही राज्य हो शिवाजी बहुत बड़े राजा हुए शिवाजी के बाद भी मराठा साम्राज्य में भी काफी बड़े बड़े राजा हो चुके हैं शिवाजी ने बड़े-बड़े युद्ध जीते और स्वराज्य की स्थापना की शिवाजी महाराज ना केवल हिंदू शासक थे अपितु गरीबों के मसीहा भी थे

शिवाजी के पिता का नाम

शिवाजी महाराज के बेटे का नाम संभाजी था संभाजी भी बहुत बड़े योद्धा थे शिवाजी के बड़े भाई का नाम भी संभाजी था जब शिवाजी के बड़े भाई की मृत्यु हो गई तब शिवाजी ने अपने बेटे का नाम संभाजी रखा शिवाजी की माता का नाम जीजाबाई था शिवाजी के पिता जी का नाम शाहजी भोंसले था

धन्ना जाट की कथा

शिवाजी का जन्म 19 फरवरी 1627 ईस्वी शिवाजी का जन्म हुआ शिवाजी महाराज भगवान शंकर के अवतार माने जाते हैं शिवाजी ने मुगलों को टक्कर देने के लिए अपना साम्राज्य स्थापित किया जिनमें पुरंदर के किले को जीतना उनके लिए काफी महत्वपूर्ण रहा

Chhatrapati shivaji ke guru kaun the शिवाजी को औरंगजेब ने धोखे से बंदी बनाया लेकिन शिवाजी फल की टोकरी में बैठकर वहां से निकल गए शिवाजी जिस प्रकार महान व्यक्तित्व थे उसी प्रकार महान रणनीति के भी मालिक थे शिवाजी महाराज को हमारा नमन अगर आपको भी कोई बात या कोई कहानी जाननी है शिवाजी के बारे में कोई आपका पसंद है तो आप हमें कमेंट करें धन्यवाद राम जी राम

Leave a Reply

%d bloggers like this: